Saturday, September 10, 2011

how to become successful programmer ?

एक सफल प्रोग्रामर बनने के लिए, अपको प्रोग्रामिंग भाषा जिसका आप प्रयोग कर रहे है उसके  वाक्यविन्यास  (syntax) का विस्तृत ज्ञान आवश्यक है | लेकिन syntax  इस कहानी का छोटा सा हिस्सा भर है ,सिर्फ वो प्रोग्राम लिखना काफी नहीं जो सिर्फ रन करे , परन्तु यह भी आवश्यक है की प्रोग्राम का रिजल्ट भी आशा अनुरूप ही हो | अर्थात जो प्रोगाम अपने अर्थ को कंप्यूटर को स्पष्ट तरीके से समझा सकता है वो ही सही प्रोग्राम माना जाता है | 
 
साथ ही , अच्छे प्रोग्रामर प्रोग्राम को इस तरीके से लिखते है की वो दुसरे प्रोग्रम्मेर को आसानी से समझ में आ जाये | ज्यादातर प्रोग्राम हम टीम में बनाते है , और अगर कभी अकेले भी बनाते तो भी हमे उसको कही बार पढ़ना और बदलना पड़ता है , इसीलिए  अच्छे से जमा के लिखा गया प्रोग्राम लंबे समय में बहुत ही उपयोगी साबित होता है | इसीलिए प्रोग्रम्मेर को चाहिए के वो इस बात का ध्यान रखे |

जब में आपको नए प्रोग्रम्मिंग features  के बारे में बताऊंगा , में आपको सारी बातें समझाने का प्रयास करूँगा | जब में आपको निचे उदहारण दूंगा तो आप सबसे पहले आप प्रोग्राम के  syntax को याद करने की कोशिश करे , इसके पश्यात उसके व्याकरण को समझे और साथ ही साथ इस बात का भी ध्यान रखे की वो प्रोग्राम आपको समझ भी आये | दूसरी कंप्यूटर की भाषाओ को आप परत दर परत सीख सकते है परन्तु जावा के कांसेप्ट एक दुसरे पर इस प्रकार से निर्भर है की छोटे से छोटे प्रोग्राम में भी कही बाते सीखनी पड़ती है । इसलिए शुरू में आप को जो चीज़ समझ नहीं आये उसे आप छोड़ कर आगे बढ़ने का प्रयास करे , निरंतर अभ्यास से वो कांसेप्ट आपको अपने आप समझ में आने लग जाएगा । 

यह हो सकता है की आपको किसी भाषा के व्याकरण , शब्द और उसके प्रयोग का ज्ञान हो , पर इतने से ही आप अपने आप को बड़ीया प्रोग्रम्मेर नहीं मान सकते | आपको इसके बाद भी उलझी हुई समस्याओ का समाधान करना सीखना होगा | और उसके लिए आपको प्रोग्राम बनाने की इच्छा और अनुभव दोनों की आवश्यकता पड़ेगी । 


10 comments:

  1. bahut sandar laga aapka blog padh kar

    ReplyDelete
  2. Dear sir I want to say thanx to you.
    you have create a nice blog for the students.
    Thank_you
    sir

    ReplyDelete
  3. very good your blog sir.
    pavan kumar

    ReplyDelete
  4. Sir agar is blog ka pdf ban jae to offline padhna aasan rahega baar baar online nahi hona padega plz iska pdf banaiye thank u

    ReplyDelete
    Replies
    1. if u wanna study off line, copy that text to microsoft word" . . .

      Delete
  5. bhut mast blog laga padhne me ,So i like this blog

    ReplyDelete
  6. very nice explain thanks..............

    ReplyDelete
  7. Realy realy thanks to written in hindi

    ReplyDelete

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...