Tuesday, September 13, 2011

Compiling and Running Java Programs

जावा सोर्स कोड को कमपाईल करना

जावा की कृतिम मशीन के, जावा प्रोग्राम को रन करने से पहले हमे जावा सोर्स कोड को byte code में कमपाईल करना पड़ता है |  कमपाईल करने का काम जावाक (javac) कमपाईलर करता है | जावा का byte code प्लेटफार्म से स्वछंद(platform independent) होता है | प्लेटफार्म से स्वछंदता का मतलब यह है  की इसको कोई फर्क नहीं पड़ता की आप कौन सा कंप्यूटर चला रहे है , विंडोज का , युनीक्स का या फिर मेक |

आप में से कही लोगो  के दिमाग में यह प्रशन जरूर उठा होगा की जावा भाषा  प्लेटफार्म (जावा किसी भी मशीन में आसानी से चल सकती है ) से स्वछंद कैसे होती है ?

इसका सीधा सा उत्तर है : जावा वर्तुअल मशीन (Java Virtual Machine).  जिसे हम JVM और में कृतिम  मशीन कहता हूँ | इस मशीन के नाम से ही आपको यह स्पष्ट हो गया होगा की यह एक कृतिम मशीन है
जो सिर्फ जावा को प्लेटफोर्म से स्वछंद करने के लिए ही बनाई गयी है |   जावा का byte code  इसी मशीन के लिए लिखा जाता  है | और यह मशीन सभी प्लात्फोर्म पर समान रूप से काम करती है | इसे अलग शब्दों में
हम यह कह सकते है , JVM एक हमारी मशीन और जावा के बीच की एक परत है |

अब हम देख्नेगे की जावा के प्रोग्राम को कमपाईल कैसे करते है | माना की प्रोग्राम का नाम Xyz.java (प्रोग्राम का पहला अक्षर हमेशा बड़ा होगा) है

अब देखिये इसको कमपाईल करने का कमांड  

Windows      
 c:/>  javac Xyz.java
In Linux   
% javac Xyz.java

अगर सौर्स कोड में कोई error नहीं होगा तो जावा एक या कही क्लास फाइल बनाएगा | हर क्लास फाइल ,प्रोग्राम की एक क्लास के लिए होगी ,जैसे प्रोग्राम में दो क्लास है तोह यह दो क्लास फाइल बनाएगा |ऊपर दिए प्रोग्राम के लिए यह Xyz.class नाम की फाइल बनाएगा |

जावा प्रोग्राम को रन करने का तरीका

एक बार Java source code को सफलता पूर्वक कमपाईल करने के बाद आप जावा की कृतिम मशीन को प्रोग्रम byte code को रन करने का कमाड दे सकते है  |
जैसे
Windows      
 c:/>  java Xyz.java
In Linux   
% java  Xyz.java

No comments:

Post a Comment

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...